राज्यसभा में धक्का-मुक्की पर मचा बवाल , मारपीट का आरोप लगाते हुए रो पड़ीं फूलोदेवी नेताम

राज्यसभा में धक्का-मुक्की पर मचा बवाल , मारपीट का आरोप लगाते हुए रो पड़ीं फूलोदेवी नेताम

राज्यसभा में धक्का-मुक्की पर बवाल जारी, मारपीट का आरोप लगाते हुए रो पड़ीं फूलोदेवी

 VM News desk :-

राज्यसभा में विपक्ष के विरोध और पिछले हफ्ते मार्शलों की हाथापाई से उपजा बवाल बढ़ता ही जा रहा हैl  हाल ही में बीजेपी सांसद सुनील सोनी ने छत्तीसगढ़ के दो कांग्रेस सांसद फूलोदेवी नेताम और छाया वर्मा पर संसद की महिला मार्शलों के साथ मारपीट करने का आरोप लगाया थाl आज छत्तीसगढ़ महिला कांग्रेस अध्यक्ष और राज्यसभा सांसद फूलोदेवी नेताम उस दिन की घटना को राज्यसभा में बताते हुए रो पड़ीं। बुधवार को कांग्रेस नेताओं ने भाजपा की महिला सांसदों और मंत्रियों के खिलाफ मुर्दाबाद के नारे लगाए। प्रदर्शन के दौरान एक पुतला भी जलाया गया।

और पढ़े :- फर्जी बिल से पंचायतो से 47 लाख का गबन, 4 सचिव सस्पेंड,4 के खिलाफ ऍफ़ आई आर

कांग्रेस के प्रदेश मुख्यालय राजीव भवन में पत्रकारों से बात करते हुए सांसद फूलोदेवी नेताम ने कहा, “भाजपा शासन में महिलाएं सड़क से लेकर संसद तक कहीं भी सुरक्षित नहीं हैं l”  हमने सदन में महिला सुरक्षा, कृषि विधेयक आदि को लेकर सरकार की नीतियों का विरोध किया l  उस दिन संसद स्थगन की स्थिति में थी। अचानक सरकार बिना किसी नोटिस के बीमा विधेयक लाई। विरोध करना हमारा संवैधानिक अधिकार है। हम विरोध कर रहे थे। अचानक मार्शल बुलाए गए। पुरुष मार्शलों ने महिला सांसदों को धक्का दिया। मैं भी गिर गयी, मेरे हाथ और पीठ में चोट लगी। वहां सभी सांसदों ने देखा। अब भाजपा के लोग हम पर मारपीट का आरोप लगा रहे हैं। यह कहते हुए फूलोदेवी नेताम रो पड़ीं।

रायपुर : विधानसभा के समिति कक्ष में विधानसभा अध्यक्ष डॉ चरणदास महंत की अध्यक्षता में आज  कार्यमंत्रणा समिति की बैठक आयोजित की गई

कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष मोहन मरकाम ने कहा, राज्यसभा संसद का ऊपरी सदन है। ऐसा माना जाता है कि राज्यसभा द्वारा प्रस्तुत उच्च आदर्श चर्चा और आचरण देश के लोगों को गौरवान्वित करता है। देश के आम आदमी के लिए मिसाल कायम करें। इस राज्यसभा में मोदी सरकार द्वारा महिला सांसदों के साथ किए गए दुर्व्यवहार ने भारत के गौरवशाली लोकतंत्र और संसदीय प्रणाली दोनों को कलंकित किया।

 

Leave a Comment