पीएम किसान सम्मावन निधि में फर्जीवाड़ा खुला: 3 लाख किसानों से होगी वसूली; लाभार्थी हैं तो 31 तक जरूर करा लें ये काम

उत्‍तर प्रदेश में पीएम किसान सम्मान निधि में बड़ा फर्जीवाड़ा सामने आया है। जांच और सत्यापन में अब तक 03 लाख 15 हजार 10 लाभार्थी अपात्र पाए गए हैं। इन्हें दी गई धनराशि की वसूली कराई जाएगी। मुख्य सचिव दुर्गाशंकर मिश्र ने सभी जिलाधिकारियों को इस मामले में लगातार समीक्षा के निर्देश दिए हैं।

श में अब तक 2.55 करोड़ किसानों को कम से कम एक बार पीएम किसान सम्मान निधि का लाभ मिल चुका है। इनमें से 6.18 लाख किसान ऐसे हैं जिनके डेटाबेस में उनकी आधार संख्या गलत दर्ज थी या आवेदन और आधार कार्ड में दर्ज नाम में भिन्नता है। ऐसे लोगों को अगली किस्त नहीं मिल सकी है। मुख्य सचिव ने कहा है कि कुछ का डेटाबेस सुधारा जा चुका है।

31 तक केवाईसी अपडेट कराएं

केंद्र सरकार ने पीएम सम्मान निधि के सभी लाभार्थियों का ईकेवाईसी 31 मई तक कराने के निर्देश दिए हैं। अभी तक सिर्फ 53 फीसदी लाभार्थियों का ही ईकेवाईसी हो सका है। पीएम किसान पोर्टल या कॉमन सर्विस सेंटर पर जाकर किसान स्वयं भी निर्धारित शुल्क देकर ईकेवाईसी करा सकते हैं। ऐसा न होने पर उन्हें अगली किश्तें मिलने में दिक्कत होगी। मुख्य सचिव ने निर्देश दिए हैं कि राजस्व एवं कृषि विभाग की टीम बनाकर आधार इनवेलिड, नाम मिस्मैच तथा नवीन आवेदन पत्रों का सत्यापन 30 जून तक कराएं।

 

What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0

Share and Enjoy !

Shares

Leave a Reply

Your email address will not be published.