कैग ने कांग्रेस-भाजपा दोनों के दावों की  खोली पोल : माकपा

कैग ने कांग्रेस-भाजपा दोनों के दावों की  खोली पोल : माकपा

वर्तमान मंथन डेस्क :-

मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी ने कहा है कि सत्र के अंतिम दिन विधानसभा में पेश कैग की रिपोर्ट ने कांग्रेस राज के दो सालों के विकास के दावों की पोल तो खोली ही है, भाजपा राज के भष्टाचार और गड़बड़ियों को भी बेपर्दा किया है। जनता के हितों के साथ खिलवाड़ करते हुए दोनों पार्टियों को अपनी नीतियों और करनियों पर शर्म आनी चाहिए।

आज यहां जारी एक बयान में माकपा राज्य सचिवमंडल ने कहा है कि बजट में आबंटित राशि को खर्च करने की गंभीरता भी यह सरकार अपने विभागों में पैदा नहीं कर पाई, इसके बावजूद अनुपूरक बजट पेश करके यह दिखावा किया जा रहा है कि सरकार काम कर रही है। पीएम आवास योजना में राज्य सरकार ने अपना पूरा योगदान नहीं दिया है, जिसके कारण हजारों ग्रामीण परिवार पात्रता के बावजूद आवासहीन है और जो आवास बने भी हैं, उनमें से 90% से ज्यादा घरों में पेयजल, बिजली और शौचालय जैसी बुनियादी मानवीय सुविधाएं भी नहीं दी गई हैं।

माकपा राज्य सचिव संजय पराते ने कहा है कि इसी तरह भाजपा राज के सुशासनकी पोल भी यह रिपोर्ट खोलती है। प्रदेश के 17 जिलों में आंगनबाड़ियों की संख्या जरूरत से कम है और और वर्ष 2014-19 के बीच इनसे लाभान्वित होने वाले बच्चों की संख्या में लगभग 7 लाख की कमी आई है। बहुप्रचारित खाद्यान्न सुरक्षा योजना के बावजूद हकीकत यही है कि इस प्रदेश के आधे से ज्यादा बच्चे और महिलाएं कुपोषण और रक्ताल्पता के शिकार हैं। उन्होंने कहा कि इसी दौरान भाजपा-नियंत्रित सड़क विकास निगम ने एक भी सड़क नहीं बनाई। स्पष्ट है कि संघी गिरोह और भाजपा कार्यकर्ताओं ने अपनी तिजोरियों का भार बढ़ाने के लिए ही इस निगम का दुरूपयोग किया है। इसीलिए राष्ट्रीय औसत की तुलना में छत्तीसगढ़ में सड़को का जाल आधे से भी कम है। राज्य की इस दुर्दशा और पिछड़ेपन के लिए भाजपा और उसकी नीतियां सीधे जिम्मेदार हैं।

Leave a Comment