कौन हैं पराग अग्रवाल, जिन्होंने ली जैक डॉर्सी की जगह, बने ट्विटर के नए सीईओ?

Spread the love

माइक्रो ब्लॉगिंग साइट ट्विटर (Twitter) के सह-संस्थापक जैक डॉर्सी (Jack Dorsey) ने कंपनी के सीईओ का पद छोड़ने का फैसला लिया है. उनकी जगह अब भारतीय मूल के पराग अग्रवाल (Parag Agarwal) जिम्मेदारी संभालेंगे. जैक डॉर्सी पराग को ट्विटर का सीईओ नियुक्त किया गया है. डोर्सी ने सीईओ पद पर पराग अग्रवाल की नियुक्ति करने हुए उनकी तारीफ की है.

डॉसी ने पराग की तारीफ में कहा कि कि ट्विटर के सीईओ के रूप में पराग में उनका गहरा विश्वास है. पिछले 10 वर्षों में उनका काम बेहद शानदार रहा है. डॉर्सी ने आगे कहा कि वह पराग के दिल, व्यक्तित्व और कार्यकुशलता के कायल हैं और बहुत आभारी हैं. अब उनके नेतृत्व करने का समय आ गया है.

कौन हैं पराग अग्रवाल?

पराग अग्रवाल अब तक ट्विटर के चीफ टेक्नोलॉजी ऑफिसर (CTO) यानी मुख्य तकनीकी अधिकारी थे और पूर्ण रूप से तकनीकी जिम्मेदारी संभाल रहे थे. डॉर्सी के मुताबिक, पराग अग्रवाल ने ट्विटर में इंजीनियर के तौर पर अपने करियर की शुरुआत की थी. अब वे सीईओ का पद संभालने जा रहे हैं.

पराग की पढ़ाई की बात करें तो वे कंप्यूटर साइंस में डॉक्टरेट हैं. उन्होंने आईआईटी बॉम्बे से इंजीनियरिंग की डिग्री ली है. इसके बाद उन्होंने अमेरिका के कैलिफोर्निया स्थित स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी (Stanford University) से कम्प्यूटर साइंस में पीएचडी की है.

अग्रवाल ने 2011 में ट्विटर जॉइन किया था. तब से वे ट्विटर में ही काम कर रहे हैं. वर्ष 2017 में उन्हें कंपनी का सीटीओ बनाया गया था. जब उन्होंने कंपनी जॉइन की थी, तब कर्मियों की संख्या 1000 से भी कम थी. ट्विटर ज्वाइन करने से पहले पराग ने माइक्रोसॉफ्ट और याहू में भी अपनी सेवा दी है.

11.41 करोड़ की संपत्ति के मालिक!

पराग अग्रवाल ट्विटर के ब्लूस्की प्रयास का नेतृत्व कर रहे थे, जिसका उद्देश्य सोशल मीडिया के लिए एक खुला और विकेंद्रीकृत मानक (Open and Decentralised Standard) बनाना था. सीटीओ के रूप में, पराग ट्विटर की तकनीकी रणनीति और उपभोक्ता राजस्व और विज्ञान टीमों में मशीन सीखने और एआई की देखरेख के लिए जिम्मेदार थे. हिन्दुस्तान टाइम्स ने PeopleAI के हवाले से पराग अग्रवाल की अनुमानित कुल संपत्ति 1.52 मिलियन डॉलर यानी 11,41,91,596 रुपये की बताई है.

पराग ने जताया आभार

ट्विटर के सीईओ नियुक्‍त किए जाने के बाद पराग अग्रवाल ने ट्विटर पर जैक डॉर्सी के प्रति आभार व्‍यक्‍त किया है. उन्‍होंने लिखा कि वह अपनी नियुक्ति को लेकर काफी सम्मानित महसूस कर रहे हैं और खुश हैं. उन्होंने डॉर्सी के निरंतर मार्गदर्शन और दोस्ती के लिए उनका धन्‍यवाद किया है.

बोर्ड में बनें रहेंगे डॉर्सी

जैक डॉर्सी ने सीईओ पद से तो इस्तीफा दे दिया है, लेकिन वे कंपनी के बोर्ड सदस्य बने रहेंगे. अपने ट्विटर अकाउंट पर एक पत्र शेयर करते हुए उन्होंने पद छोड़ने को लेकर दुख भी जताया है. हालांकि पत्र में उन्होंने लिखा है कि वह काफी खुश भी हैं और ये उनका अपना फैसला है. डॉर्सी ने कहा कि कंपनी में सह-संस्थापक से सीईओ, फिर अध्यक्ष, कार्यकारी अध्यक्ष, अंतरिम-सीईओ से सीईओ तक की भूमिका निभाने के लगभग 16 सालों के बाद मैंने फैसला किया कि आखिरकार मेरे जाने का समय आ गया है. पराग अग्रवाल (Parag Agarwal) हमारे सीईओ बन रहे हैं. बता दें कि डॉर्सी का कार्यकाल 2022 में समाप्त होगा.

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.