पंजाब नेशनल बैंक ने दिव्यांग कर्मचारियों के लिए एंड्रॉइड ऐप किया लॉन्च

Spread the love

पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) ने पीएनबी प्राइड-सीआरएमडी मॉड्यूल टूल लॉन्च किया है, जो विशेष उल्लेख खाते (एसएमए) उधारकर्ताओं के साथ निगरानी और प्रभावी ढंग से पालन करने के लिए अलग-अलग कर्मचारियों के लिए एक एंड्रॉइड-आधारित एप्लिकेशन है. पीएनबी के मुताबिक, यह उपकरण बहुत जल्द आईओएस के साथ भी संगत हो जाएगा. एसएमए खाते दबावग्रस्त लोन होते हैं जिन्हें जल्दी पहचाना जाता है, जो बैंकों को समय पर उपचारात्मक कार्रवाई शुरू करने में सक्षम बनाते हैं. और ऐसे उधारकर्ताओं को एनपीए में जाने से रोकते हैं.

पीएनबी के अनुसार, उनके प्राइड मॉड्यूल में बिल्ट-इन टॉकबैक सॉफ्टवेयर है जो नेत्रहीनों को सिस्टम को स्वतंत्र रूप से एक्सेस करने की अनुमति देता है और उन्हें अपने फोन पर टैप करके ग्राहकों से संपर्क करने में सक्षम बनाता है.

अधिकारों और कल्याण को बढ़ावा देना

रिपोर्ट के मुताबिक, ऐप का मुख्य उद्देश्य दिव्यांग व्यक्तियों के अधिकारों और कल्याण को बढ़ावा देना है. इस दौरान, पंजाब नेशनल बैंक के कार्यकारी निदेशक विजय दूबे ने पीएनबी योद्धाओं की अवधारणा और पीएनबी गौरव के कार्यान्वयन में अलग-अलग कर्मचारियों के सदस्यों की क्षमताओं और उनके कौशल के उपयोग पर जोर दिया.

सदस्यों से मिले फीडबैक को मॉड्यूल में किया शामिल

साथ ही उन्होंने बताया कि, पीएनबी प्राइड सीआरएमडी मॉड्यूल का विकास एक सहभागी मॉडल के माध्यम से किया गया था, और अलग-अलग रूप से सक्षम स्टाफ सदस्यों से प्राप्त फीडबैक को मॉड्यूल में शामिल किया गया था. मॉड्यूल विशेष रूप से हमारे दृष्टिबाधित कर्मचारियों पर ध्यान केंद्रित करने के साथ विकसित किया गया है ताकि वो सुविधा के साथ काम कर सकें और व्यवसाय में योगदान कर सकें.

पंजाब नेशनल बैंक ने अपने आधिकारिक ट्वीटर अकाउंट से भी इसकी जानकारी अपने ग्राहकों के साथ साझा की है. साथ ही पीएनबी प्राइड-सीआरएमडी मॉड्यूल टूल लॉन्चिंग को लेकर बताया गया है. इसकी खासियत यह है कि, यह एक तरह का प्राइड मॉड्यूल में बिल्ट-इन टॉकबैक सॉफ्टवेयर है. जो नेत्रहीनों को सिस्टम को स्वतंत्र रूप से एक्सेस करने की अनुमति देता है. इसके अलावा उन्हें अपने फोन पर टैप करके ग्राहकों से संपर्क करने में सक्षम बनाता है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.