रियल एस्टेट क्षेत्र के इस समूह पर आयकर विभाग की छापेमारी

Spread the love

केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (सीबीडीटी) ने शुक्रवार को जानकारी देते हुए कहा कि सूरत स्थित रियल एस्टेट निर्माण और वित्तपोषण में लगे समूह पर छापेमारी के बाद आयकर विभाग ने 650 करोड़ रुपये से अधिक की काली कमाई का पता लगाया है। समूह के सूरत और मुंबई में स्थित लगभग 40 ठिकानों पर तलाशी अभियान चलाया गया था।

आईटी रेड

सूरत स्थित एक रियल एस्टेट समूह पर आयकर विभाग की छापेमारी में करोड़ों रुपये के संदिग्ध लेन-देन का खुलासा हुआ है। केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (सीबीडीटी) ने शुक्रवार को जानकारी देते हुए कहा कि रियल एस्टेट निर्माण और वित्तपोषण में लगे इस समूह पर छापेमारी के बाद आयकर विभाग ने 650 करोड़ रुपये से अधिक की काली कमाई का पता लगाया है।

40 ठिकानों पर चलाया तलाशी अभियान

सीबीडीटी की ओर से बताया गया कि बीते 3 दिसंबर को यह छापेमारी की गई। इसके तहत रियल एस्टेट समूह के सूरत और मुंबई में स्थित लगभग 40 ठिकानों पर तलाशी अभियान चलाया गया था। इस दौरान कई दस्तावेज जब्त किए गए हैं, जिनसे लगभग 650 करोड़ के संदिग्ध लेन-देन उजागर हुए हैं। सीबीडीटी ने दावा किया कि इन ठिकानों से मिले सबूतों के प्रारंभिक विश्लेषण से पता चलता है कि फ्लैटों/भूमि की बिक्री पर 300 करोड़ रुपये से अधिक की बेहिसाब नकदी प्राप्त की गई है। इसके अलावा कई और लेन-देन का पता चला है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.