10वीं, 11वीं के नंबरों से तैयार होगा सीबीएसई 12वीं का रिजल्ट, 31 जुलाई को नतीजे होंगे घोषित

Spread the love

नई दिल्ली। सीबीएसई बोर्ड की 12वीं की मार्कशीट तैयार करने को लेकर केंद्र ने तैयार किए गए फार्मूले की रिपोर्ट गुरुवार को सुप्रीम कोर्ट को सौंपी। 12वीं रिजल्ट तैयार करने को लेकर गठित 13 सदस्यीय समिति ने बताया कि 10वीं, 11वीं और 12वीं के प्री बोर्ड के रिजल्ट को 12वीं के फाइनल रिजल्ट का आधार बनाया जाएगा। सुप्रीम कोर्ट में केंद्र की तरफ से अटॉर्नी जनरल ने कहा कि सीबीएसई के नतीजे 31 जुलाई को आएंगे।
ऐसे तैयार हो रहा रिजल्ट
कमेटी ने सुप्रीम कोर्ट में बताया कि 10वीं के 5 विषय में से 3 विषय के सबसे अच्छे मार्क को लिया जाएगा। इसी तरह 11वीं के पांच विषयों का एवरेज लिया जाएगा और 12वीं के प्री-बोर्ड एग्जाम और प्रेक्टिकल का नंबर लिया जाएगा। 10वीं से 30%, 11वीं से 30% और 12वीं के नंबर वेटेज के 40% के आधार पर नतीजे आएंगे। जस्टिस ए एम खानविलकर और जस्टिस दिनेश माहेश्वरी की पीठ को अटॉर्नी जनरल के के वेणुगोपाल ने बताया कि मूल्यांकन के फार्मूले से असंतुष्ट सीबीएसई छात्रों को 12वीं कक्षा की परीक्षा देने का मौका दिया जाएगा जो महामारी के हालात में सुधार होने पर कराई जाएगी।
केंद्र कहा कि परिणाम समिति ने परीक्षा की विश्वसनीयता के आधार पर वेटेज पर फैसला किया। स्कूलों की नीति प्रीबोर्ड में ज्यादा अंक देने की है, ऐसे में सीबीएसई के हजारों स्कूलों में से प्रत्येक के लिए परिणाम समिति गठित होगी। स्कूल के दो वरिष्ठतम शिक्षक और पड़ोसी स्कूल के शिक्षक “मॉडरेशन कमेटी” के रूप में कार्य करेंगे ताकि यह सुनिश्चित हो सके कि स्कूल ने अंकों को बढ़ा-चढ़ाकर नहीं बताया है, यह कमेटी छात्रों के पिछले तीन सालों के प्रदर्शन को आंकेगी। बता दें कि सीबीएसई ने 4 जून 2021 को ईवैल्यूएशन क्राइटेरिया तय करने के लिए 13 सदस्यीय कमेटी का गठन किया था। 12वीं मूल्यांकन नीति तय करने के लिए समिति को 10 दिन का समय दिया गया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published.