आरोप : सोशल मीडिया ट्वीटर ने जानबूझ कर भ्रामक वीडियो और खबरें फैलाने और धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाया : एफआईआर दर्ज

Spread the love

नई दिल्ली। सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म ट्विटर एकमात्र सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म है जिसने भारत सरकार द्वारा लाए गए नए आईटी नियमों का पालन नहीं किया है। समाचार एजेंसी एएनआई ने एक सरकारी सूत्र के हवाले से कहा, ट्विटर भारत में इंटरमीडरी प्लेटफॉर्म के रूप में अपना स्टेटस खो देगा क्योंकि यह नए दिशानिर्देशों का पालन नहीं करता है। यह मेनस्ट्रीम सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म में ऐसा अकेला प्लेटफॉर्म है जिसने नए कानूनों का पालन नहीं किया है।
आपको बता दें कि गाजियाबाद जिले में एक बुजुर्ग मुस्लिम व्यक्ति की पिटाई कर दाढ़ी काटने के आरोप में पुलिस ने ट्वीटर समेत फैक्ट चेकर अल्ट न्यूज के खिलाफ मामला दर्ज कर दिया है। आरोप है कि सोशल मीडिया ट्वीटर ने जानबूझ कर भ्रामक वीडियो और खबरें फैलाने और धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाया है। इस आरोप में गाजियाबाद पुलिस ने 9 लोगों पर स्नढ्ढक्र दर्ज की है। इसमें दर्ज नाम- राणा अयूब, जुबेर अहमद, सलमान निजामी, मसकूर उस्मानी, डॉ. समा मोहम्मद, सबा नकवी शामिल हैं।

सरकार का ट्वीटर पर हमला!

ट्विटर पर आरोप है कि इस मंच ने एक वीडियो प्रचारित किया है जिसमें एक मुस्लिम को निशाना बनाया गया है। उसकी पिटाई और जबरन दाढ़ी काटने का आरोप लगाया गया है।जानकारी के मुताबिक, ट्वीटर ऐसे वीडियो को और भ्रामक खबरों को मैनिपुलेटेड करार देता है लेकिन इस मंच ने इस वीडियो को लेकर ऐसा कुछ नहीं किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.