तेलंगाना में 2 और दिल्ली में ओमिक्रॉन के 10 नए केस मिले; देश में अब 99 मामले

Spread the love

तेलंगाना में आज ओमिक्रॉन के 2 नए मामलो की पुष्टि हुई। यहां ओमिक्रॉन के कुल 8 मामले हो गए हैं। वहीं, दिल्ली में आज ओमिक्रॉन के 10 नए केस दर्ज किए गए हैं। इसके बाद राज्य में कुल संक्रमितों की संख्या 20 हो गई है। दिल्ली के हेल्थ मिनिस्टर सत्येंद्र जैन ने नए मामलों की पुष्टि की है। देश में नए वैरिएंट के कुल मामले अब बढ़कर 99 हो गए हैं।

आज के अन्य प्रमुख अपडेट्स..

US हेल्थ ऑफिसर बोले- जॉनसन की वैक्सीन से ब्लड क्लॉटिंग का खतरा, फाइजर-मॉर्डना इससे बेहतर

कोरोना के बढ़ते मामलों और वैक्सीनेशन ड्राइव में तेजी के बीच अमेरिकी स्वास्थ्य अधिकारियों ने कहा कि अधिकतर अमेरिकियों को जॉनसन एंड जॉनसन (J&J) की बजाय फाइजर और मॉर्डना की वैक्सीन लगाई जानी चाहिए। उन्होंने कहा कि J&J की वैक्सीन से बेहद कम, लेकिन गंभीर ब्लड क्लॉटिंग हो सकती है।

सेंटर फॉर डिसीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन (CDC) के सलाहकारों ने कहा कि J&J वैक्सीन लगने के बाद हुई क्लॉटिंग के चलते अब तक अमेरिका में 9 मौतों की पुष्टि हुई है। फाइजर और मॉर्डना की वैक्सीन के साथ ऐसे रिस्क नहीं आते हैं और वे ज्यादा प्रभावी भी साबित हुई हैं।

राष्ट्रपति बाइडेन की चेतावनी, कहा- इस बार गंभीर बीमारी और मौत लाएगी

अमेरिका में कोरोना के मामले लगातार बढ़ रहे हैं। इसे देखते हुए अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने लोगों को चेताया है। बाइडेन ने कहा कि वैक्सीन न लगवाने वाले लोगों को इस सर्दी में गंभीर बीमारी और मौत का सामना करना पड़ सकता है। उन्होंने अमेरिका में ओमिक्रॉन के तेजी से फैलने की आशंका भी जाहिर की।

वहीं, महामारी को लेकर मेडिकल एक्सपर्ट्स के साथ हुई मीटिंग के बाद कहा कि देश ओमिक्रॉन से निपटने के लिए पूरी तरह तैयार है। देश में बूस्टर डोज दी जा रही है और ट्रैवल को लेकर नए नियम लागू किए गए हैं। 1 दिसंबर को अमेरिका में रोजाना के औसत नए कोरोना केस की संख्या 86,000 थी, जो 14 दिसंबर को 1,17,000 हो गई।

फाइजर की टैबलेट से इलाज करेंगे यूरोपियन देश, EU की मेडिकल बॉडी ने दिया इमरजेंसी अप्रूवल

कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन के कारण महामारी की चौथी लहर के करीब पहुंच चुकी यूरोपियन कंट्रीज में अब इससे निपटने के लिए फाइजर कंपनी की कोविड टैबलेट का इस्तेमाल किया जाएगा। यूरोपियन यूनियन (EU) के ड्रग्स रेगुलेटर ने इस टैबलेट के इमरजेंसी यूज का अप्रूवल दे दिया है।

अमेरिकी फार्मा कंपनी फाइजर ने इसी सप्ताह दावा किया था कि उनकी टैबलेट के इस्तेमाल से कोरोना के कारण अस्पताल में भर्ती होने वाले और मरने वाले लोगों की संख्या में 90 परसेंट तक कमी आएगी। यूरोपियन मेडिसिंस एजेंसी (EMA) ने फाइजर की टैबलेट के इमरजेंसी यूज की मंजूरी उन एडल्टस के लिए दी है जिन्हें ऑक्सीजन सप्लाई की जरूरत नहीं है। साथ ही जिनमें संक्रमण के बढ़कर गंभीर होने की संभावना नहीं हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.