बाल कमजोर होने का कारण है शरीर में इन तत्वों की कमी

Spread the love

ड्रोजेनेटिक एलोपेसिया एक आनुवंशिक बीमारी है, जिसके कारण बाल झड़ते हैं और इंसान जल्‍दी गंजा हो जाता है. जैसाकि हम जानते हैं कि बालों के सफेद होने और झड़ने के पीछे हेरिडिटरी कारण हो सकते हैं, लेकिन हर बार यह समस्‍या सिर्फ आनुवंशिक कारणों से ही नहीं होती. विज्ञान कहता है कि बालों का झड़ना या गंजापन मस्‍क्‍यूलर डिस्‍ट्रॉफी की तरह जीन से जुड़ी हुई समस्‍या नहीं है. इसका मुख्‍य कारण तो शरीर में कुछ जरूरी तत्‍वों की कमी ही होता है, लेकिन उन तत्‍वों की कमी हेरिडिटरी हो सकती है.

आनुवंशिकता सिर्फ जीन की ही नहीं होती, जो एक पीढ़ी से दूसरी पीढ़ी में स्‍थानांतरित होती है. बल्कि कई बार न्‍यूट्रिएंट्स की अधिकता और कमी भी एक पीढ़ी से दूसरी पीढ़ी में स्‍थानांतरित होती जाती है. जिंक विश्‍व स्‍वास्‍थ्‍य संगठन की रिपोर्ट कहती है कि एशियाई देशों और उसमें भी खासतौर पर भारत में लोगों के शरीर में जिंक का अभाव है.

जिंक की कमी से रेसपिरेटरी सिस्‍टम और त्‍वचा से संबंधित बीमारियां तो होती ही हैं, जिंक की कमी का एक बड़ा लक्षण तेज गति से झड़ते हुए बाल भी हैं. अगर आपको कभी भी लगे कि आपके बाल अचानक झड़ने लगे हैं तो इसकी वजह जिंक की कमी हो सकती है. जिंक टैबलेट खाकर इस कमी को पूरा किया जा सकता है.

बायोटिन बायोटिन बालों के लिए एक जरूरी तत्‍व है, जिसकी कमी से बाल पतले होने और टूटने लगते हैं. इसकी कमी से नाखून भी टूटने लगते हैं. मांसपेशियों की थकान, कमजोरी, चक्‍कर आना, पैंरों में बार-बार झुनझुनी होना या उनका सुन्‍न पड़ जाना भी बायोटिन की कमी का लक्षण है. बायोटिन शरीर के लिए एक जरूरी तत्‍व है, लेकिन यह खासतौर पर बालों और नाखून के लिए जरूरी है.

कॉपर कॉपर एक ऐसा तत्‍व है, जिसकी आमतौर पर शरीर में कमी नहीं होती, बल्कि लिवर के आसपास इसके जमा होने या ब्‍लड में संघनित होकर जमा होने की समस्‍या जरूर होती है. अगर शरीर में कॉपर जमा हो रहा है तो उसके लक्षण दूसरे हैं, लेकिन अगर किसी भी कारण से इसकी कमी है तो इसका असर बालों और नाखून के स्‍वास्‍थ्‍य पर पड़ता है. लेकिन आमतौर पर भारत जैसे देश में शरीर में कॉपर की कमी कोई समस्‍या नहीं है. हां, इसकी अधिकता से जरूर काफी लोग जूझते हैं, जिसका असर घुटनों और जोड़ों के असहनीय दर्द के रूप में दिखाई देता है.

कॉलेजेन कॉलेजेन बालों की जड़ों को मजबूत बनाने वाला एक तत्‍व है. यह बालों के घनेपन और मोटाई के लिए भी जिम्‍मेदार है. इसकी कमी का असर बालों के झड़ने और कमजोर होेन के रूप में दिखाई देता है. विटामिन बी 6 कोई खाद्य पदार्थ ऐसा नहीं है, जिसमें विटामिन बी कॉम्‍प्‍लेक्‍स के सारे एलिमेंट एक साथ मौजूद हों, लेकिन विटामिन बी एक ऐसा जरूरी विटामिन है, जिसकी कमी गंभीर स्‍वास्‍थ्‍य संबंधी समस्‍याएं पैदा कर सकती है. उसमें से एक विटामिन बी 6 का संबंध हमारे बालों के स्‍वास्‍थ्‍य से है. अगर इस विटामिन की कमी हो तो बाल कमजोर हो जाते हैं और गंजेपन की समस्‍या हो सकती है.

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.