क्या बारिश के दौरान आपके घर से बदबू आने लगती है? इन तरीकों से करें दूर

Spread the love

गर्मियों के बाद आने वाला बारिश का मौसम लुभावना तो बहुत लगता है, लेकिन यह अपने साथ कई तरह की समस्याओं को भी लाता है। इस मौसम में हवा में काफी नमी हो जाती है, जिसके कारण घर में अजीब सी महक का सामना करना पड़ जाता है। अगर आपको इस परेशानी का सामना करना पड़ता है तो इसे दूर करने के लिए आप कुछ घरेलू नुस्खों को अपना सकते हैं। आइए ऐसे ही कुछ घरेलू नुस्खे जानते हैं।

  • हाइड्रोजन पेरॉक्साइड का करें इस्तेमाल

बारिश के मौसम में घर के उसी हिस्से में अधिक बदबू होती है, जहां हवा के साथ धूप ठीक से नहीं पहुंच पाती है। खैर, आप चाहें तो इस बदबू को दूर करने के लिए हाइड्रोजन पेरॉक्साइड का इस्तेमाल कर सकते हैं। इसके लिए पहले एक कप पानी में हाइड्रोजन पेरॉक्साइड और बेकिंग सोडा की बराबर मात्रा को मिलाकर एक घोल तैयार कर लें और फिर इसे एक स्प्रे बोतल में भरकर इसका पूरे घर में छिड़काव करें।
एसेंशियल ऑयल की मदद से महकाएं अपना घर
एसेंशियल ऑयल की मदद से भी आप अपने घर को खुशबूदार बना सकते हैं। इसके लिए एक स्प्रे बोतल में तीन चौथाई पानी के साथ अपना पसंदीदा एसंशियल ऑयल डालकर अच्छे से मिला लें और फिर इस मिश्रण को रूम फ्रेशनर की तरह इस्तेमाल करें। वहीं, अगर आप इस रूम फ्रेशनर का इस्तेमाल रसोई या बाथरूम डस्टबिन के आस-पास करेंगे तो वहां से भी बदबू नहीं आएगी। इसके लिए लैवेंडर ऑयल और लेमन ऑयल बेहतरीन रहेंगे।

  • कपूर आएगा काम

कपूर की मदद से भी घर से बारिश के कारण आने वाली अजीब सी गंध को दूर किया जा सकता है। इसके लिए सबसे पहले थोड़े से कपूर का पाउडर बना लें। इसके बाद एक कटोरी में इस पाउडर को एक से दो चम्मच अपने किसी पसंदीदा एसेंशियल ऑयल के साथ अच्छे से मिलाएं। इसके बाद इस मिश्रण को पानी से भरी स्प्रे बोतल में मिलाएं और फिर इसका इस्तेमाल बतौर रूम फ्रेशनर करें।

  • फूलों की तरह सुंगधित बनाएं अपना घर

अगर आपको फूलों की सुगंध बेहद पसंद है तो आप अपने पसंदीदा फूलों की मदद से भी घर की बदबू को दूर कर सकते हैं। इसके लिए अपने पसंदीदा फूलों की पत्तियों को लगभग आधा घंटा पानी में उबालें और इस पानी को छानकर स्प्रे बोतल में भर लें। अब ठंडा होने पर इस स्प्रे को कमरे में छिड़क दें। यकीनन इससे आपका घर फूलों की तरह ही महक उठेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.