क्या आपको पता है सामान की तरह पुलिस स्टेशन को मिलता है ISO सर्टिफिकेट, ये है पूरा सिस्टम

Spread the love

Police Station ISO Certificate: भारत में कुछ रेलवे स्टेशन ऐसे हैं, जिन्हें आईएसओ सर्टिफिकेट मिल चुका है. ऐसे में सवाल है कि आखिर इसका मतलब क्या होता है और ये क्यों मिलता है.

आपने कई सामानों पर लिखा होगा कि सामान ISO सर्टिफाइड है यानी उस सामान को आईएसओ सर्टिफिकेट मिला हुई है. लेकिन, ऐसा सर्टिफिकेट पुलिस स्टेशन को भी मिलता है. आप भी सोच कर हैरान हो गए होंगे कि आखिर ये कैसे हो सकता है और पुलिस स्टेशन को क्यो यह सर्टिफिकेट मिलता है. पुलिस स्टेशन को आईएसओ सर्टिफिकेट मिलने की खबर के बाद आपके मन में कई सवाल आ रहे होंगे कि ये क्यों मिलता है, किसे मिलता है और भी बहुत कुछ.

ऐसे में हम आपके हर एक सवाल का जवाब दे रहे हैं ताकि आपको समझ आ सके कि आखिर पुलिस स्टेशन को आईएसओ सर्टिफिकेट मिलने का क्या मतलब है और यह क्यों मिलता है?

क्या है आईएसओ?

आईएसओ का मतलब है इंटरनेशन ऑर्गेनाइजेशन फॉर स्टेंडर्डाइजेशन. यह एक तरीके से वर्ल्ड वाइड नेशनल स्टैंडर्ड बॉडी फेडरेशन है. यह अलग अलग चीजों को सर्टिफिकेट देते हैं और भारत में यह सर्टिफिकेट देने का जो बॉडी काम करती है, उसे एनएबीसीबी कहते हैं. इसका उद्देश्य ग्राहक की संतुष्टि को बढ़ाना है और इससे सिस्टम को सुधारने का प्रयास किया जाता है और ग्राहक के अनुभव को बेहतर बनाया जाता है.

पुलिस को क्यों मिलता है सर्टिफिकेट?

पुलिस का काम भी सर्विस की तरह ही है. इसमें जनता को सुरक्षा के रुप में सेवा दी जाती है. पुलिस भी लोगों का काम करती है और पुलिस लोगों के लिए फंक्शन करती है. वैसे पुलिस को ये सर्टिफिकेट पारदर्शिता सुनिश्चित करने के लिए, पुलिसकर्मियों की जवाबदेही बढ़ाने के लिए और नागरिकों की सेवा में सुधार के लिए यह सर्टिफिकेट दिया जाता है. भारत में कई स्टेशन को आईएसओ सर्टिफिकेट मिल चुका है.

पुलिस स्टेशन में क्या देखा जाता है?

इसको आप एक उदाहरण से समझ सकते हैं. हाल ही में मध्यप्रदेश के एक थाने को भी सर्टिफिकेट मिला है. इस थाने में पुलिसकर्मी और आमजन गुटखाए पान खाकर नहीं आ सकेंगे. इसे लेकर जुर्माना लगाने की व्यवस्था की जाएगी. यहां रिशेप्शन काउंटर भी बनाया गया है. इसमें आप एक बैंक या प्राइवेट कंपनी की तरह काम कर सकते हैं. आमजन की आसानी के लिए यहां काफी सुविधाएं जुटाई गई है, जिससे लोगों को काफी फायदा होता है. ऐसे में जिन स्टेशन में जनता के लिए कई तरह की सुविधाएं दी जाती हैं, वहां उन स्टेशन को यह सर्टिफिकेट मिलता है.

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.