रायपुर, बिलासपुर, सरगुजा, बस्तर और दुर्ग संभाग में मौसम विभाग का अलर्ट : भारी बारिश की संभावना

Spread the love

रायपुर। मौसम विभाग ने छत्तीसगढ़ में बारिश को लेकर येलो और ऑरेंज अलर्ट जारी किया है. रायपुर, बिलासपुर, सरगुजा, बस्तर और दुर्ग संभाग के लिए ये अलर्ट जारी किया गया है. मौसम विज्ञानी एस के अवस्थी ने अलर्ट जारी करते हुए कहा कि एक निम्न दाब का क्षेत्र उत्तर पश्चिम बंगाल की खाड़ी और उससे लगे उत्तरी ओडि़सा तट और पश्चिम बंगाल तट के ऊपर स्थित है. जो अधिक प्रबल होकर पश्चिम-उत्तर-पश्चिम दिशा में आगे बढ़ते हुए ओडि़सा, झारखंड और उत्तर छत्तीसगढ़ की ओर आगे बढ़ सकता है। एक द्रोणिका दक्षिण पंजाब से निम्न दाब के केंद्र तक हरियाणा, उत्तर-पश्चिम उत्तर प्रदेश, उत्तर-पूर्व मध्य प्रदेश, उत्तर छत्तीसगढ़ और झारखंड होते हुए 1.5 किलोमीटर ऊंचाई तक विस्तारित है. जिसके प्रभाव से प्रदेश के अधिकांश स्थानों पर हल्की से मध्यम वर्षा होने अथवा गरज चमक के साथ छींटे पडऩे की संभावना है. कुछ स्थानों पर मध्यम से भारी वर्षा होने की संभावना भी बन रही है।

  • मुंबई-बिहार में भारी बारिश का अलर्ट

भारत मौसम विज्ञान विभाग- आईएमडी ने कहा है कि उत्तर भारत को भीषण गर्मी से जल्द ही राहत मिलने की उम्मीद है क्योंकि दक्षिण राजस्थान और गुजरात के कच्छ क्षेत्र को छोड़कर अगले दो तीन दिनों में दक्षिण पश्चिम मानसून के पूरे क्षेत्र में सक्रिय होने की उम्मीद है। वहीं, मुंबई में पिछले चार दिनों से भारी से बहुत भारी बारिश जारी है। आईएमडी ने कहा है कि कहर की बारिश अभी जारी रहेगी। उम्मीद की जा रही है कि उमस भरी गर्मी से दो चार हो रहे उत्तर भारत को भी इससे जल्द निजात मिल जाएगी। मॉनसून बंगाल की खाड़ी, ओडिशा, पश्चिम बंगाल, झारखंड होते हुए उत्तर भारत की ओर आगे बढ़ चुका है। उत्तर प्रदेश और राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में जल्द ही दस्तक की उम्मीद है। वहीं, पंजाब, हरियाणा और यूपी में मानसूनी गतिविधियां देखने को मिल रही हैं। इन राज्यों के कई इलाकों में आंधी-बारिश का सिलसिला जारी है। मौसम विभाग ने उत्तर भारत में 13-14 जून के लिए बारिश का अलर्ट जारी किया है। ईस्टर्न यूपी के लिए ऑरेंज जबकि दिल्ली-एनसीआर के लिए येलो अलर्ट जारी किया गया है। पंजाब-हरियाणा, दिल्ली समेत उत्तर भारत के अधिकतर राज्यों में 14-15 जून को मॉनसून के पहुंचने का अनुमान है।
दक्षिण पश्चिम मानसून शनिवार तक बंगाल की खाड़ी, उड़ीसा, पश्चिम बंगाल, झारखंड और बिहार के शेष हिस्सों में पहुंच चुका है और यह रविवार तक उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश को झमाझम बारिश से भिगो देगा। आईएमडी ने कहा कि मुंबई ने अब तक कुल 641.3 मिमी बारिश मापी है, जिससे यह 493.1 मिमी के मासिक सामान्य से अधिक है। पिछले चार दिनों में मुंबई में 500 मिमी से अधिक बारिश हुई है। बेस स्टेशन सांताक्रूज ने 24 घंटे में 107 मिमी रिकॉर्ड किया। मुंबई ने 10 जून (231 मिमी), 11 जून (107 मिमी) और 12 जून (107 मिमी) को 24 घंटे की बारिश में तीन अंक दर्ज करके शतकीय वर्षा की हैट्रिक पूरी की।
दिल्ली समेत एनसीआर में मानसून के आगमन की संभावित तिथि 15 जून हो सकती है और इसके बाद यह अगले दो-तीन दिनों में दक्षिण राजस्थान और गुजरात के कच्छ क्षेत्र को छोड़कर पूरे देश को कवर कर लेगा। अमूमन दिल्ली में मानसून की सामान्य शुरुआत की तारीख 27 जून है, हालांकि, इस बार इसके मौसम संबंधी कारकों के कारण मानसून के तय समय से लगभग दो सप्ताह पहले आने की संभावना है। मॉनसून बंगाल की खाड़ी, ओडिशा, पश्चिम बंगाल, झारखंड होते हुए उत्तर भारत की ओर आगे बढ़ चुका है. उत्तर प्रदेश और राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में जल्द ही दस्तक की उम्मीद है। पंजाब, हरियाणा और यूपी में मॉनसूनी गतिविधियां देखने को मिल रही हैं। इन राज्यों के कई इलाकों में आंधी-बारिश का सिलसिला जारी है। मौसम विभाग ने उत्तर भारत में 13-14 जून के लिए बारिश का अलर्ट जारी किया है. ईस्टर्न यूपी के लिए ऑरेंज जबकि दिल्ली-एनसीआर के लिए येलो अलर्ट जारी किया गया है. पंजाब-हरियाणा, दिल्ली समेत उत्तर भारत के अधिकतर राज्यों में 14-15 जून को मॉनसून के पहुंचने का अनुमान है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.