अंतिम चरण में फर्जी मतदान, विवाद के बाद पुलिस ने भांजी लाठियां

Spread the love

भिलाई। जिले के चारों निकाय भिलाई, रिसाली, भिलाई चरोदा और जामुल नगर पालिका परिषद के लिए हुए मतदान के अंतिम चरण में फर्जी मतदान का भी दौर चला।

शाम चार बजे के बाद से मतदान खत्म होने तक कई बूथों से लगातार फर्जी मतदान की शिकायतें पुलिस के पास पहुंची। कुछ मामलों में तो पुलिस ने मौके पर पहुंचकर फर्जी मतदाताओं को पकड़ा भी।

लेकिन, खुर्सीपार वार्ड-47 राधाकृष्ण मंदिर के एक बूथ में फर्जी मतदाता के पकड़े जाने के बाद कांग्रेस, भाजपा समेत निर्दलीय प्रत्याशियों के समर्थकों के बीच विवाद हो गया। पुलिस ने माहौल को संभालने की काफी कोशिस की। लेकिन, जब स्थिति नियंत्रित नहीं हुई तो पुलिस को वहां लाठी भांजनी पड़ी।

खुर्सीपार के पंडित जवाहर लाल नेहरू शासकीय स्कूल में मतदान खत्म होने के ठीक 10 मिनट पहले स्थिति बिगड़ी। वहां पर कुछ युवक फर्जी मतदाता बनकर वोट डालने पहुंच गए थे। बूथ अभिकर्ताओं ने फर्जी मतदाताओं को पहचान लिया और पीठासीन अधिकारी को इसकी जानकारी दी।

ये बात वहां मौजूद भाजपा, कांग्रेस और निर्दलीय प्रत्याशियों के समर्थकों को भी पता चली। सभी समर्थकों ने वहां पर एक-दूसरे पर फर्जी मतदाता बुलाने का आरोप लगाते हुए विवाद शुरू कर दिया। मतदान समाप्त होने के पहले सभी लोग स्कूल परिसर में घुस गए और हंगामा करने लगे।

इसकी जानकारी मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची। स्कूल परिसर में घुसे सभी लोगों को बाहर निकालने की कोशिश की गई। लेकिन, जब भीड़ शांत नहीं हुई तो पुलिस ने जमकर लाठियां भांजी। लोगों को दौड़ा-दौड़ाकर पीटा। इसके बाद वहां पर फर्जी मतदान करने के लिए घुसे तीन युवकों को हिरासत में भी लिया।

इसके अलावा कैंप-2 दुर्गा विद्यालय, खुर्सीपार आइटीआइ, रिसाली निगम के वार्ड एक में भी फर्जी मतदाताओं के मिलने की शिकायत पुलिस को मिली।

पुलिस ने इन सभी स्थानों पर जाकर फर्जी मतदाताओं को हिरासत में लिया और थाने लेकर गई। हालांकि फर्जी मतदाताओं की संख्या और उनके खिलाफ की गई कार्रवाई के बारे में कोई अधिकृत जानकारी सामने नहीं आ सकी है।

 

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.